Globalisation and the Indian economy- वैश्वीकरण और भारतीय अर्थव्यवस्था| Matric Economics in Hindi |…

Share:

कैसे हो आप सब, मस्त ! स्वागत है आपका हमारे

वेबसाईट पर । आप बने रहे लगातार हमारे साथ

एक पर एक शानदार कंटेंट मिलेगा । वार्षिक परीक्षा

2023 के बेहतर तैयारी के लिए आप सही जगह

पर आ गए हैं । अब कहीं भटकने की जरूरत नहीं

है । इस भाग में हम दसवीं के सामाजिक विज्ञान का

एक विषय अर्थशास्त्र(Economics) का chapter

No. - 4 का गहराई से चर्चा करेंगे ।

1) वैश्वीकरण (🌎 Globalisation) :

तकनीक, विचार, उत्पादन और सेवा को एक देश से

दूसरे देश में प्रसारित करना,वैश्वीकरण(Globalisation)

कहा जाता है ।

✳️ वैश्वीकरण देशों का एकीकरण करता है और

एक देश को दूसरे देश से जोड़ता है ।

✳️ वस्तु, सेवा, तकनीक और निवेश एक देश से

दूसरे देश में जाता है ।

✳️ तकनीक का विकास वैश्वीकरण का सबसे मुख्य

कारण है ।

2) बहुराष्ट्रीय कंपनी (Multinational Company) :

वह कम्पनी जो एक से अधिक देशों में उत्पादन करता है,

बहुराष्ट्रीय कंपनी (Multinational Company)

कहा जाता है ।

✳️ इसका शॉर्ट फॉर्म MNC होता है ।

✳️ कम्पनी ऐसे देशों में अपना उद्योग और ऑफिस लगाती

है जहाँ मजदूर और अन्य जरूरी सामान सस्ता मिलता

है जिससे उत्पादन में खर्च कम आता है और फायदा

ज्यादा होता है ।

✳️ MNC अपना कंपनी ऐसे जगह पर लगाता है जहाँ

से बाजार नजदीक हो और कुशल, अकुशल श्रमिक

आसानी से मिल जाए ।

3) Liberalisation of Foreign trade:

सरकार के द्वारा लगाए गए रोक को और अवरोध को

हटाकर विदेशी कंपनी को देश में लाना, उदारवाद

कहा जाता है ।

To watch full content visit: https://www.alokofficial.com/2022/09/globalisation-and-indian-economy-matric.html?m=1